कोरोना का कहर: गोरखपुर में 24 घंटे में 1067 नए मरीज मिले, तीन की मौत


जिले में पिछले 24 घंटे के अंदर कोरोना के रिकॉर्ड 1067 नए केस मिले हैं। साथ ही तीन मरीजों की मौत भी हुई है। तीनों गोरखपुर के रहने वाले हैं। वहीं विभाग ने मंगलवार को एक साथ 10 मौतों के आंकड़े पोर्टल पर अपलोड कर दिए हैं। इसके बाद से मौतों की कुल संख्या 397 पहुंच गई है। पीपीगंज नगर पंचायत के निजी हॉस्पिटल के संचालक को संक्रमित होने के बाद मंगलवार की देर शाम को बीआरडी मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। जिला अस्पताल के चिकित्सक भी संक्रमित होने के बाद निजी अस्पताल में इलाज करा रहे हैं।

सीएमओ डॉ सुधाकर पांडेय ने बताया कि 1067 केस मिलने के बाद जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 30639 हो गई है। इसमें से 23384 संक्रमित स्वस्थ हो चुके हैं। जिले में एक्टिव मरीजों का आंकड़ा सात हजार के पास 6858 पर पहुंच गया है। मंगलवार को शहरी थाना क्षेत्र में 623 नए केस मिले हैं, जबकि ग्रामीण थाना क्षेत्र में कुल 391 संक्रमित मिले हैं। 53 मामले ऐसे हैं, जो अलग-अलग थाना क्षेत्रों के हैं। सीएमओ ने अपील की है कि लोग कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें। स्थिति बिगड़ती जा रही है। ऐसे में बचाव ही एक मात्र उपाय है। कोविड का टीका जरूर लगवाएं।

बीआरडी में तीन की मौत, पोर्टल पर 10 अपलोड

प्रशासन के मुताबिक बीआरडी मेडिकल कॉलेज में पिछले 24 घंटे के अंदर तीन संक्रमितों की मौत हुई है। इनमें दो पुरुष जिनकी उम्र 53 व 38 वर्ष हैं। जबकि एक महिला की मौत भी हुई है, जिनकी उम्र 48 साल है। निजी अस्पताल में ट्रांसपोर्ट नगर निवासी संक्रमित युवक की मौत हुई थी। अस्पताल पर परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। वहीं ‌स्वास्थ्य विभाग ने एक साथ 10 मौत के आंकड़ों को भी पोर्टल पर अपलोड कर दिया है। इसकी वजह से अचानक मौतों का आंकड़ा 387 से 397 पहुंच गया है।

दो दिन में कोरोना से 882 ने जीती जंग

कोरोना के बढ़ते मरीजों के बीच राहत भरी खबर यह भी है कि दो दिनों के अंदर 882 मरीजों ने कोरोना से जंग जीत ली है। इनमें 95 प्रतिशत मरीज होम आइसोलेशन में रहकर कोविड से मुक्ति पाई है। सोमवार को 313 मरीज स्वस्थ्य हुए थे। जबकि मंगलवार को 469 मरीज स्वस्थ्य हुए हैं। सीएमओ डॉ सुधाकर पांडेय ने कहा कि होम आइसोलेशन में रहकर लोग कोरोना को हरा रहे हैं। यह सुखद संकेत हैं। बताया कि लोग कोविड प्रोटोकॉल का पालन कर कोरोना से जंग जीत रहे हैं। बेहतर ‌दिनचर्या और सही खानपान रखते हुए अगर मास्क और सोशल डिस्टें‌सिंग का पालन किया जाए, तो कोरोना से जीत मिलनी तय है।

युवा व्यवसायी की कोरोना से मौत

बीआरडी मेडिकल कॉलेज में सीधेगौर गांव निवासी 30 वर्षीय युवा व्यापारी की मौत कोरोना से हुई है। मौत की सूचना पर परिवार में कोहराम मच गया है। बताया जा रहा है कि युवक की 16 अप्रैल को तबीयत खराब हुई थी। परिजन गोरखपुर में निजी अस्पताल में भर्ती कराए थे। हालत बिगड़ने पर 18 अप्रैल को मेडिकल कॉलेज मे भर्ती कराया गया था। इस बीच 20 अप्रैल को युवक की 300 बेड के कोविड वार्ड में मौत हो गई। बताया जा रहा है कि युवक की शादी अभी डेढ़ साल पहले ही हुई थी। एक पांच माह की पुत्री है। युवक ट्रांसपोर्ट का ‌काम करता था। मौत की सूचना पर परिजनों का बुरा हाल है।

शव गायब होने का आरोप लगाकर युवक ने किया हंगामा

बीआरडी मेडिकल कालेज में युवक का शव गायब होने का आरोप लगा कर युवक ने मंगलवार दोपहर जमकर हंगामा किया। कुशीनगर निवासी 35 वर्षीय महिला को सोमवार की देर रात तीन सौ बेड अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सुबह उनकी मौत हो गई। दोपहर तक शव नहीं मिला तो परिजन ने शव गायब होने का आरोप लगाते हुए हंगामा करने लगे। शाम तकरीबन 4:30 बजे परिजनों को शव दिया गया। तीन सौ बेड अस्पताल के नोडल अफसर डा. अजहर अली ने कहा कि युवक का शव गायब नहीं हुआ था। शव को पैक करने में देर हुई। इस पर परिजनों को लगा कि शव गायब हो गया है।



Source link

Related posts

Leave a Comment